SOCIAL MEDIA: मां को याद कर लोग बार-बार सुन रहे अमिताभ बच्चन का नया गाना ‘MAA’, कहा- निःशब्द

New Delhi: मेरी रोटी की गोलाई मां, सर्दी वाली रजाई मां, मेरा पहला अक्षर मां, मेरे सबसे भीतर मां, माथे की पप्पी मां, सबसे मीठी झप्पी मां, पानी जैसी प्यारी मां, कहानी जैसी न्यारी मां, गुड़िया जैसी बोली, रंगीली रंगोली ..मेरी रोटी की गोलाई मां।  MOTHERS DAY के मौके पर अमिताभ बच्चन ने माओं के लिए जो गाना है उसका रिलिक्स सुनकर आपको भी अपनी मां की याद आ जाएगी। इस गाने के लिरिक्स वाकई कमाल के हैं। हेडफोन लगाकर अकेले कमरे में बैठकर  मैंने भी इस गाने को कई बार सुना।

अमिताभ बच्चन ने सिंगर यजत गर्ग के साथ मिलकर मदर्स डे स्पेशल एक गाना गाया है। इस गाने में अमिताभ ने ‘पीकू’ डायरेक्टर शूजीत सरकार के साथ काम किया है। MAA SONG पुनीत शर्मा ने लिखा है- इस गाने को अनुज गर्ग ने कंपोज किया है। शूजीत ने बताया कि- यह गाना सिर्फ उनके लिए नहीं हैं जिनकी मां नहीं हैं, ये गाना उनके लिए भी है जो अभी अपनी मां की छाया में रह रहे हैं।

सोशल मीडिया पर इस गाने की खूब तारीफ हो रही है। फैन्स खूब रिप्लाई कर रहे हैं। इस गाने को सुनने वाली की आंख भर रही है। एक यूजर्स ने कहा कि- किसी के हिस्से में मकान आई किसी के हिस्से मे दुकान आई…मैं घर में सबसे छोटा था मेरे हिस्से में मां आई….

वहीं एक यूजर ने लिखा कि-  हवाओ से भी लड़ती है एक चिराग के वजूद की खातिर…. शमां में “मां” सुनाई देना महज एक इत्तेफाक नही है। फैन्स ने मां की सेवा को ईश्वर की सेवा बताया है। एक यूजर ने लिखा कि-  सर आपकी आवाज मुझे मम्मी पापा की लोरी की याद दिलाती है।  सभी माओं को Happy Mothers Day।

आपने कहा था आंखें बंद करके सुनने, लेकिन सब मांओं को देखने समझने के लालच में सबके नाम पढ़ता गया… आपकी मां के अलावा शायद किसी को नहीं पहचानता मैं…  लेकिन बहुत सुन्दर श्रदांजलि दी है आप लोगों ने दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *