SOCIAL MEDIA: गौमूत्र से कैंसर ठीक हो सकते हैं, तो बादल राडार को चकमा क्यों नहीं दे सकते?

New Delhi: Pm Modi के Air Strike वाले बयान पर Socail Media पर जमकर मजाक उड़ाया जा रहा है। हुआ ये कि, पीएम मोदी ने National Technology Day के दिन बादल और बारिश को Air Strike मिशन के लिए फायदेमंद बताया। फिर क्या, मोदी के बयान आते ही सोशल मीडिया पर लोगों को उनकी ये बात हजम नहीं हुई। लोगों ने उन्हें इस तरह घेरना शुरू कर दिया। देखिए…

सोशल मीडिया पर ऐसे उड़ा मजाक-

Sitaram yechuri ने ट्वीट कर पीएम के बयान को शर्मनाक बताया। उन्होंने ट्वीट कर कहा- मोदी के शब्द वास्तव में शर्मनाक हैं। पीएम ने वायु सेना को अपमानित किया है।  पीएम जिस बारे में बात कर रहे हैं वह अज्ञानता वाला है। कोई भी देशभक्त ऐसा नहीं करेगा।

Abhisar Sharma ने लिखा- अब हम करें तो करें क्या ? बोलें तो बोलें क्या ?

Swati Chaturvedi कहती हैं- यह खतरनाक है। भारत का पीएम है जिसकी निरक्षरता लगातार सामने आ रही है।

Writer, Director Avinash Das कहते हैं कि- अगर गौमूत्र से कैंसर ठीक हो सकते हैं, तो बादल रडार को चकमा क्यों नहीं दे सकते? बात करते हैं।

Shankar Thakur ने कहा कि-  हंसी की बात बिल्कुल नहीं है। वास्तव में इस बात का कोई सबूत नहीं है कि यह आत्म-हीन नीम-हकीम हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए कितना खतरनाक है। एक यूजर ने लिखा कि- ये सोच कर भी दहशत होती हैं कि ऐसे मानसिक रोगी का हाथ में न्यूकिलयर बम का बटन हैं।

Asadudin owaisi ने कहा- सर, आप तो गजब के एक्सपर्ट हैं, सर रिक्वेस्ट है चौकादीर हटा लीजिए और एयर चीफ मार्शल और प्रधान…क्या टॉनिक पीता है आपके बातों में हर डिपार्टमेंट का फॉर्मूला है सिवार रोजगार, अर्थव्यवस्था, औद्योगाकि, वृद्धि, किसानों की समस्याएं

 

क्या कहा था पीएम मोदी ने पढ़िए- पीएम मोदी ने कहा था कि- मैंने 9 बजे एयरस्ट्राइल की तैयारियों का रिव्यू 9 बजे किया। उसके बाद फिर से 12 बजे उसका रिव्यू किया। लेकिन अचानक मौसम एक दम खराब हो गया था। बारिश हो रही थी। मिशन में रिस्क था। हमारे मन में आया, बादल है क्या जा पाएंगे। उस वक्त एक्सपर्ट कह रहे थे, डेट चेंज कर दो, लेकिन ये गुप्त मिशन था। उसके बाद मेरे मन में एक बात आई। मैंने कहा इतना क्वाउड है, बारिश हो रही है तो एक बेनीफिट भी है। क्या हम राडार से बच सकते हैं। मैंने कहा ये मेरी सोच है कि बादलों से फायदा भी हो सकता है। फिर मैंने कहा- ओके, जाइए। फिर चल पड़े।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *